Θ बेतिया – चनपटिया:– भारत के उत्कर्ष में युवाओं की भूमिका जरूरी :-विशाल कुमार मिश्र

Θ बेतिया – चनपटिया:– भारत के उत्कर्ष में युवाओं की भूमिका जरूरी :-विशाल कुमार मिश्र

✍न्यूज इनपुट नीरज ठाकुर बेतिया (प.च) बिहार 👉

चनपटिया प्रखंड के घोघा पंचायत में नवरात्रि के मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का गया.लोकगीत के लिए छपरा एवं सिवान से गायक बुलाए गए थे.जिन्होंने अपने शानदार प्रस्तुति से कार्यक्रम में मौजूद हजारों लोगों को झुमाया.कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय आजाद मंच के विभाग संयोजक दीपक कुशवाहा ने किया.जबकि संचालन स्थानीय समाजसेवी रमेश दुबे ने किया.सांस्कृतिक समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय आज़ाद मंच के प्रदेश अध्यक्ष विशाल कुमार मिश्र ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि संपूर्ण विश्व आज पर्यावरण असंतुलन से उपजी आपदाओं और आतंकवाद से त्रस्त है,वहीं भारत स्वार्थ,संवेदनहीनता,अज्ञान अव्यवस्था जैसे षडयंत्रो का शिकार होकर वांछित गति से प्रगति करने से वंचित हो रहा है।

इस विषम परिस्थिति में भारत के उत्कर्ष में युवाओं की भूमिका बढ़ गयी है.उन्होंने कहा कि हिंदुत्व महज एक धर्म नहीं है,यह हमारे देश की संस्कृति है.यह अहिंसा की,प्रेम की,स्नेह की,परिवारिक और सामाजिक मूल्यों की चमक है.लेकिन आज जिस प्रकार धर्म और देश पर विपरीत विचारधारा हावी हो रहा है और हमे दिग्भ्रमित करके धर्म परिवर्तन का जो खेल चल रहा है उसे समझने की आवश्यकता है.विशाल ने युवाओं से अपील किया कि अपने ऊर्जा का सकारात्मक प्रयोग देश और समाज के उत्थान के लिए करें.उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आजाद मंच चनपटिया प्रखंड के मुद्दों को गंभीरता से उठाते रहता है.भविष्य में भी जरूरत पड़ी तो संघर्ष करने से पीछे नहीं हटेगा.वहीं उन्होंने पंचायत के लोकप्रिय पूर्व मुखिया स्वर्गीय अनिल मिश्र को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहां की उनका संपूर्ण जीवन प्रेरणादायक रहा है।

उन्होंने इस पंचायत के विकास के लिए अपना संपूर्ण जीवन समर्पित कर दिया.ऐसे महामानव के जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए.जिला अध्यक्ष शैलेश कुमार दुबे ने कहा कि समाज की स्थिति एवं उसका विकास तभी संभव है जब आने वाली पीढ़ी को आदर्श एवं मूल्यों की शिक्षा से लैस किया जाए जिससे सभ्यता और संस्कृति के प्रति हमारा लगाव बढे और उनके संरक्षण और संवर्धन के लिए ललक पैदा हो.मंच के विभाग संयोजक एवं आयोजन समिति के उपाध्यक्ष दीपक कुशवाहा ने कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहा कि अपने संस्कृति को बचाने के लिए सामाजिक चेतना एवं सामूहिक प्रयास जरूरी है।

ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रम से समाज में समरसता का भाव उत्पन्न होगा.कार्यक्रम को सफल बनाने में हरेंद्र शाह,राहुल दास,विवेक दास,जयप्रकाश,नारद महतो,ध्रुव शाह सहित अन्य ने महत्पूर्ण भूमिका रही।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s