बेतिया : टोला सेवकों और शिक्षा स्वयंसेवकों को मिले पढ़ाने के टिप्स

दुर्गा दत्त पाठक की रिपोर्ट:-

महादलित, दलित, अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा वर्ग अक्षरांचल योजना अंतर्गत टोला सेवकों एवं तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयंसेवियों का एक दिवसीय कार्यशाला का अयोजन बी०आर० सी० चनपटिया में किया गया। राज्य साधनसेवी मेरी एडलीन ने टोला सेवकों और शिक्षा स्वयंसेवकों को नवसाक्षरों एवं छात्र- छात्राओं को पढ़ाने का टिप्स देते हुए कहा कि असाक्षर महिलाओं को वार्तालाप, और विभिन्न प्रकार के विषय संबंधी चर्चा के द्वारा पढ़ाया सिखाया जाए। नवसाक्षरों को प्रेरित किया जाए कि वे प्रतिदिन केंद्र पर पढ़ने अवश्य आये।वही कमजोर छात्रों को कहानी, खेल- खेल में विषयवस्तु की जानकारी दिया जाए। केंद संचालन का निर्देश देते हुए कहा केंद्र से जुड़ी प्रत्येक नवसाक्षर महिलाओं को उनका नाम लिखना, हस्ताक्षर करना अनिवार्य रूप से सीखाया जाए। साथ ही सरकार की विकास की योजनाओं की जानकारी और योजनाओं का लाभ भी नवसाक्षरों को दिया जाए। मेरी एडलीन ने कहा कि सुबह 8 बजे से 9 बजे तक शैक्षिक रूप से कमजोर छात्र- छात्राओं को कोचिंग पढ़ाने के उपरांत विद्यालय में उपस्थित कराये और शाम में 3 बजे से 5 बजे तक असाक्षर महिलाओं को अनिवार्य रूप से पढ़ाएं। वही के० आर० पी० हरेंद्र यादव ने सभी साक्षरताकर्मी को समय अपना अनुपस्थिति प्रपत्र, नवसाक्षरों का मैचिंग- बैचिंग जमा करने का निर्देश दिया। टोला सेवकों और शिक्षा स्वयंसेवियों ने स्वयं भी पढ़ाने के कई नवाचार बताये जिससे छात्र को पढ़ाई सरल लगे। कार्यशाला में विनोद राम, शम्भू राम, प्रकाश मलिक, मो० इकबाल,महफूज आलम, गणेश, राजेश कुमार रजक, अजय रजक, नंदू बैठा, नूरी ख़ातून, चंदा नसरीन, रेणु देवी सहित अन्य टोला सेवक एवं शिक्षा स्वयंसेवी उपस्थित हुए।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s