महफिल ए खत्म-ए-कुरआन व तकसीम-ए-इनामात का किया अायोजन

महफिल ए खत्म-ए-कुरआन व तकसीम-ए-इनामात का किया अायोजन

छपरा : शहर के दहियावा अवस्थित मदरसा इमामिया काईमिया के तत्वाधान में रविवार की रात में महफिल ए खत्म-ए-कुरआन व तकसीम-ए-इनामात का अयोजन किया गया । सभा को संबोधित करते हुए इमाम-ए-जुमा व मदरसा के शिक्षक मौलाना सैयद मासूम रजा वाएज ने कहा कि कुरआन तालीम का एक समन्दर है । कुरान और रमजान-उल-मुबारक में एक खास निसबत है । कुरआन में जिन्दगी के हर मसले का हल मौजूद है । यह किताब एक अनमोल मोती की तरह है ।कुुरआन का एक एक लफ्ज कलाम-ए-इलाही है इस लिए हमें इसको समझ कर पढ़ना और इस से फायदा हासिल करना चाहिए। मौके पर उन्होने कहा कि हर साल रमजान के महीने में दौर (कुरआन को एक खत्म करना) का अयोजन होता है और इस दौरान एक मुकम्मल कुरआन को खत्म करने वाले बच्चे और बच्चियों को इनाम दिया जाता है । इस मौके पर सैयद रज़ा इमाम, मौलाना सैयद मासूम रजा, मोलाना जीशान ने अपने हाथों से कुरआन मुकम्मल करने वाली कशीश फातमा को इनाम से नवाजा । ज्ञात हो कि इस मदरसा में पिछले 24 सालों से रमजान के महीने में कुरआन का दौर का आयोजन किया जाता है । इस साल कुल 40 बच्चे और बच्चियाँ शामिल हुई । इनमे मो0 समीर खाँ, काजिम इमाम, जिशान हैदर, फाखिरए जोया, देयानत, रोजिया, महम्मद बुरैर, नेदा, जाहिर, यदुल्लाह, मो0 इकबाल, कासिम, फरहीन, ताहिर, नूर फातमा, असद, जोहरा
अलीशा, मो0 इकबाल, फरहान वगैरह शामिल है। मौके पर सैयद रजा इमाम, मास्टर जुल्फेकार हुसैन, शफीक हुसैन, गुलाम पंजतन, इबरार हुसैन, हाशिम रजा, तकी हैदर, कौसर नकवी, डा0 कासिम रिजवी, शाकिर हुसैन, परवेज नकवी, वकील जाफर, डा0 सैयद सोहैल अख्तर, मो0 अली रिजवी, मदरसा के संरक्षक सैयद सरफराज हसन, वसीम रजा, फ़ज़ल हैदर, सानिया हैदर समेत सैकड़ों लोग मौजूद थें ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s