सिवान में लूट की योजना बनाते तीन अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे, तीन भागने में सफल

सिवान में लूट की योजना बनाते तीन अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे, तीन भागने में सफल
#पकड़ा गया अपराधी ऋतिक राज छपरा जिले का था मोस्ट वांटेड अपराधी छपरा जिले के विभिन्न थानों में 30 मामलों से ज्यादा में था वांटेड
#गुप्त सूचना के आधार पर एएसपी के नेतृत्व में छापेमारी कर मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अमलोरी स्थित विद्या सिंह के बागीचे से पकड़े गए तीन अपराधी एवं तीन अपराधी भागने में हुए सफल

#परवेज अख्तर /सिवान :
सिवान : गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें कि रविवार की सुबह पुलिस को सूचना मिली कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अमलोरी स्थित विद्या सिंह के बगीचे में आधा दर्जन से ज्यादा अपराधी किस्म के युवक किसी बड़ी लूट की योजना को अंजाम देने की रणनीति तैयार कर रहे हैं। सूचना मिलते ही एसपी ने त्वरित कार्रवाई करते हेतु एएसपी कांतेश कुमार मिश्रा के नेतृत्व में टीम का गठन किया। इस टीम में मुफस्सिल थानाध्यक्ष अभिजीत कुमार, एसआईटी के पुअनि संजीव सिंह निराला एवं पुअनि नीरज कुमार शामिल थे। टीम द्वारा बताए गए स्थान पर छापेमारी के दौरान अमलोरी स्थित विद्या सिंह के बगीचे से तीन कुख्यात अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। तथा वहां मौजूद तीन अपराधियों के साथी पुलिस को देख भागने में सफल रहे। हालांकि पुलिस अपराधियों का कुछ दूर तक पीछा की लेकिन तीन अपराधी पुलिस को चकमा दे भागने में सफल हुए। बता दें कि पकड़े गए अपराधियों में छपरा जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के कोठेया निवासी ऋतिक राज उर्फ ऋतिक सिंह, सिवान जिला के महाराजगंज थाना क्षेत्र के माधोपुर बलिया पोखरा निवासी अमित कुमार उर्फ नीतीश कुमार एवं सुशील कुमार है। गिरफ्तार अपराधियों द्वारा लूट, डकैती एवं छिनतई जैसे घटनाओं में अपनी संलिप्तता स्वीकार की गई है। पूछताछ के दौरान अपराधियों ने पुलिस को बताया कि रविवार को लूट की घटना को अंजाम देने के लिए रणनीति बना रहे थे। वही पकड़े गए तीन अपराधियों के पास से दो पिस्टल, 11 जिंदा गोली एवं 3 मोबाइल बरामद हुआ है। पकड़े गए तीनों अपराधी सिवान जिला के दारौंदा एवं महाराजगंज में हुई लूट मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार किए हैं। वही अपराधियों के पास से दारौंदा थाना अंतर्गत लूटी गई मोबाइल फोन भी बरामद की गई है। ज्ञात हो की 14 अप्रैल को दारौंदा थाना कांड संख्या 62/18 एवं 23 फरवरी को महाराजगंज थाना कांड संख्या 23/18 में हुए लूट मामले में अपराधियों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

भोजपुरी अभिनेता खेसारीलाल यादव से भी दिए थे लूट की घटना को अंजाम
लूट की योजना बनाते समय रविवार को पकड़े गए की अपराधियों ने भोजपुरी सिनेमा के अभिनेता खेसारीलाल यादव से दाउदपुर थाना क्षेत्र में 2011 में लूट की घटना को अंजाम दिए थे। खेसारीलाल यादव बाइक से छपरा से अपने घर रसूलपुर जा रहे थे इसी दौरान अपराधियों ने रोक कर उनसे चेन एवं उनकी मोटरसाइकिल लूट ली थी। इस मामले में दाउदपुर थाना में कांड संख्या 39/11 दिनांक 9 मई 2011 को दर्ज की गई थी। पकड़े गए अपराधी में ऋतिक राज ने पुलिस को इस बात की पुष्टि की।

छपरा का मोस्टवांटेड अपराधी है ऋतिक राज
पकड़े गए तीन अपराधियों में से छपरा जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के कोठेया निवासी ऋतिक राज उर्फ ऋतिक सिंह छपरा जिले का मोस्टवांटेड अपराधी है। उसके खिलाफ छपरा जिले के कई थानों में 30 से ज्यादा मामले में हुआ वांटेड अपराधी है। इस बात की पुष्टि एसपी नवीनचंद्र झा ने प्रेस वार्ता कर किया। उन्होंने बताया कि ऋतिक राज का अपराधिक इतिहास लंबा है वह लूट, डकैती, छिनतई जैसे कई मामलों में मोस्टवांटेड है। एवं पूछताछ के दौरान अपनी संलिप्तता भी स्वीकार किया है। एसपी ने बताया कि छपरा एसपी से ऋतिक राज के अपराधिक इतिहास का ब्यौरा माना गया है। एवं यह किस-किस मामले में संलिप्त है इसकी भी विवरणी मांगी गई है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान अभी तक यह जिले में दो मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है।

करते थे मोटरसाइकिल की छिनतई एवं बेच देते थे
एसपी नवीनचंद्र झा ने बताया कि पकड़े गए तीनों अपराधी एवं इसके गिरोह के साथी सिवान, छपरा एवं गोपालगंज जिलों में मोटरसाइकिल की छिनतई करते थे एवं छिनतई की हुई मोटरसाइकिल को बेच देते थे। तथा कुछ मोटरसाइकिल का इस्तेमाल लूट, रंगदारी एवं छिनतई जैसे कई मामलों में उसका उपयोग भी करते थे। इन लोगों ने अपनी संलिप्तता पुलिस के पूछताछ में स्वीकार किया है। पकड़े गए तीनों अपराधी ने पुलिस को बताया है कि वह अन्य-अन्य जगहों से मोटरसाइकिल की छिनतई करते थे। तथा उसे काट कर बेचते थे एवं ऐसे ही बेच देते थे। वहीं एसपी ने बताया कि पुलिस को देख भागने में सफल तीन अपराधियों को जल्द ही पकड़ा जाएगा उसके लिए छापेमारी भी की जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि भागने में सफल तीनों अपराधियों की पहचान पकड़े गए तीनों अपराधियों के द्वारा बता दी गई है उस आधार पर पुलिस छापेमारी कर रही है।

तीन माह में पुलिस के हत्थे चढ़े 51 अपराधी
जिले में कड़क पुलिसिंग एवं अपराधियों पर नकेल कसने को तत्पर एसपी नवीनचंद्र झा ने तीन माह में अभी तक जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से 51 अपराधियों को पकड़ कर जेल भेज दिया है। जेल भेजे गए सभी अपराधी लूट, रंगदारी, हत्या मामले में संलिप्त है। उन्होंने बताया कि तीन माह के अंदर 26 कांडो का डिटेक्शन कर लिया गया है एवं 95 प्रतिशत कांडों में सामान की बरामदगी भी की गई है। जिसे यह दर्शाता है कि जिले में अब अपराधियों का रहना मुश्किल हो गया है। एसपी ने कहा कि अगर जिले में रहना है तो अपराधी सामान्य जीवन जीना सीख ले अन्यथा अपराध में पकड़े जाने पर हवालात का नजारा देखना होगा। उन्होंने बताया कि तीन माह के अंदर घटित दो कांडों में पुलिस अभी तक विफल रही है। जिसमें कोई सुराग जुटाने में असफल है। हालांकि उसमें भी पुलिस अभी बिंदुवार जांच कर रही है जल्दी ही दो कांडा का भी डिटेक्शन कर लिया जाएगा

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s