​प्रेमी की इश्क मे मदहोश बीवी शौहर सिपाही को दे रही थी :स्लोपाॅयजन

प्रेमी की इश्क मे मदहोश बीवी शौहर सिपाही को दे रही थी :स्लोपाॅयजन
मौसेरे भाई से बीवी का अवैध संबंध
शीतल प्रसाद गुप्ता/ रचना सिंह
Edited by azad nab

अलीगढ़ (यूपी) 26 जुलाई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुमारपाण्डेय जी ने अपने एक सिपाही की आर्थिक मदद हूए किडनी ट्रांसप्लांट के बाद जान बचाई थी ऑर इसके चन्द दिनो पहले एक सिपाही जान कुछ इस तरहा बचाई सिपाही के मौसेरे भाई से था, सिपाही की बीवी से अवैध संबंध बीवी दे रही थी सिपाही को स्लो पाॅयजन सिपाही के विरोध करने पर सिपाही की बीवी दे रही थी। सिपाही को झुठे मुकदमे में फसाने की घमकी दी शनिवार को सिपाही की बीवी और बीवी के प्रेमी को कप्तान सहाब ने जेल भिजवाया ऑर सिपाही की जान बचाई ये सिपाही पुलिस लाईन में तेनात है। 

मामला जलेसर निवासी एक सिपाही का है इस सिपाही की पत्नी के चार साल पहले सिपाही के मौसेरे भाई से अवैध संबंध हो गए थे सिपाही को पत्नी ने दरकिनार कर दिया था इस तरहा की जैसे सात फैरे सिपाही के साथ नही बल्कि प्रेमी के साथ लिए हो इतना ही नही सिपाही बिमार भी रहने लगा था किसी अच्छे डाक्टर को सिपाही ने अपने आप को दिखाया तो डाक्टर ने सिपाही से बताया की आपको स्लोपाॅयजन दिया जा रहा है इसी दोरान सिपाही को पत्नी की वह रिकोर्डिंग मिल गई जिस रिकोर्डिंग में सिपाही की पत्नी अपने प्रेमी से बात करते हुए बोल रही थी की में अपने पति को स्लोपाॅयजन दे देकर मार दुंगी ऑर पति के मरने के बाद पति की जगहा मुझे पुलिस में नोकरी मिल जाएगी ऑर पति के मरने के बाद ऑर मुझे नोकरी मिलने के बाद तुम ऑर में साथ साथ रहेंगे ऑर खुब मोज लेंगे।
रिकोर्डिंग मिलने ऑर सारी बात सुनने के बाद जब सिपाही ने अपनी पत्नी से बात की तो पत्नी ने सिपाही को खुब धमकाया ऑर झुठे मुकदमे में फसाने की घमकी देते हुए कहा झुठे मुकदमे में फसाने के बाद तेरी बदनामी तो होगी ही बदनामी के साथ साथ तेरी नोकरी भी चली जाएगी इतना सुनते ही सिपाही अपनी गुहार लेकर एसएसपीअलीगढ़ सहाब के पास पहुंचा ऑर आप बिती सारी बात विद सबुत एसएस पी अलीगढ़ श्री राजेश कुमार पाण्डेय जी को बताई एसएसपी सहाब ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सिपाही की पत्नी व प्रेमी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश पारित कर दिए ऑर दोनो आरोपियो को पहचवा दिया जेल यदि इस मामले को एसएसपी अलीगढ़ गम्भीरता से नही लेते या कार्यवाही में देर हो जाती तो सिपाही की जान बचनी मुश्किल ही नही ना मुमकिन थी। इस प्रकरण में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुमार पाण्डेय जी का कहना है। 
सिपाही के साथ वास्तव में बहुत गलत हो रहा था सिपाही को स्लोपाॅयजन दिया जा रहा था यदी सिपाही सही समय पर सुरक्षा की गुहार नही लगाता ऑर सिपाही की पत्नी सिपाही को स्लोपाॅयजन देती रहती तो सिपाही के साथ कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती थी हमने सिपाही से पुरे प्रकरण की पुरी जानकारी व सबूत लेने के बाद ही सिपाही की तहरीरलेकर मुकदमा दर्जकराते हुए सिपाही की पत्नी ऑर प्रेमी को जेल भिजवाया है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s